abdominal gas

पेट में गैस:- बच्चों के पेट में गैस बनना एक आम समस्या है।बच्चों की पाचन शक्ति ज्यादा मजबूत नहीं होती है और वे दूध पीते समय ज्यादा दूध पी लेते हैं और खाना खाते समय ज्यादा खाना खा लेते हैं।फलस्वरूप भोजन ठीक तरह से हजम नहीं होने से उल्टी एवं दस्त की स्थिति बन जाती है।पेट में गैस बन जाने से पेट में दर्द ,मरोड़ आदि समस्याएं पैदा हो जाती हैं।

लक्षण:- पेट में गैस,पेट का फुला होना,मंदाग्नि,अरुचि,कब्ज,दर्द,मरोड़,चिड़चिड़ा होना,दूध पीना छोड़ देना,साँस लेने में परेशानी,उल्टी आदि प्रमुख लक्षण हैं।

उपचार:- (1) अदरक का रस एक चम्मच,नीम्बू का रस आधा चम्मच और शहद को डालकर खिलाने से पेट की गैस समाप्त हो जाती है।

             (2) मूली और कला नमक मिलाकर चटनी बनाकर खाने से गैस,अरुचि,भोजन का न पचना आदि ठीक हो जाता है।

             (3) बेल के पत्ते 4 और हरसिंगार की पत्तियां 4 लेकर एक कप पानी में डालकर उबालें और उसमें कला नमक मिलाकर पीने से पेट की गैस तत्क्षण दूर हो जाती है।

             (4) जीरा,बच.सोंठ और भुनी हुई हींग को पीसकर चूर्ण बनाकर रख लें और चार ग्राम की मात्रा                       गुनगुने जल के साथ सेवन से पेट की गैस में बहुत आराम हो जाता है।

            (5) अजवाइन और काला नमक को छाछ के साथ मिलाकर सेवन करने से पेट की गैस में आराम                    होता है। 


  बच्चों के रोग

  पुरुषों के रोग

  स्त्री रोग

  पाचन तंत्र

  त्वचा के रोग

  श्वसन तंत्र के रोग

  ज्वर या बुखार

  मानसिक रोग

  कान,नाक एवं गला रोग

  तंत्रिका रोग

  मोटापा रोग

  बालों के रोग

  जोड़ एवं हड्डी रोग

  रक्त रोग

  ह्रदय रोग

  आँखों के रोग

  यौन जनित रोग

  गुर्दा रोग

  आँतों के रोग

  लिवर के रोग