bed wetting disease

बच्चों का बिस्तर पर पेशाब करना :-बच्चों का बिस्तर पर पेशाब करना एक आम समस्या है।रात्रि में बच्चे सोते समय गहरी नींद में,होने,भयानक डरावना सपना देखने,मानसिक स्ट्रेस,मूत्राशय की मांसपेशियों में कमजोरी आ जाने के कारण,मूत्राशय का आकार छोटा होने की वजह से बिस्तर पर पेशाब कर देते हैं।यह समस्या लड़कियों की अपेक्षा लड़कों में ज्यादा पाई जाती है जो बढ़ती उम्र के साथ अपने -आप ठीक हो जाती है।कभी -कभी ठीक नहीं होना एक गंभीर बीमारी का भी संकेत हो सकता है।

लक्षण :- पेशाब के दौरान दर्द,बार -बार पेशाब आना,बदबूदार पेशाब,सोते हुए पेशाब करना आदि बिस्तर पर पेशाब करने के प्रमुख लक्षण हैं।

कारण :- मूत्राशय का छोटा होना,किडनी या मूत्राशय में इन्फेक्शन होना,पेशाब ज्यादा देर तक न रोक पाना,आनुवंशिक कारण,दवाओं का प्रभाव,बार -बार बुखार,कम खाना,उल्टी,ज्यादा सोना,पेट में कीड़ा होना,कब्ज,डर या तनाव,कम उम्र का होना,ब्लैडर की कमजोरी,मूत्र मार्ग में संक्रमण,हार्मोन का असंतुलन,इमोशनल एवं मेन्टल स्ट्रेस,यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन,किसी बीमारी के कारण,गहरी नींद में होना आदि बिस्तर पर पेशाब करने के मुख्य कारण हैं।

उपचार :- (1) थोड़ा सा गुड़ एवं तिल दोनों को मिलाकर बच्चों को खिलाने से बच्चों का बिस्तर पर पेशाब करना ठीक हो जाता है।

              (2) पांच -छह मुनक्का बीज निकालकर प्रतिदिन बच्चों को खिलाने से बिस्तर पर पेशाब करना बंद हो जाता है।

              (3) एक कटोरी में पानी डालकर उसमें थोड़े से किशमिश डाल दें और सुबह खाली पेट बच्चों को खिलाने से बिस्तर पर पेशाब 

                    करना ठीक हो जाता है।

              (4) गुड़ के साथ एक चम्मच अजवाइन चूर्ण को मिलाकर प्रतिदिन बच्चों को खिलाने से बिस्तर पर पेशाब करना बंद हो जाता है।

              (5) जामुन की गुठलियों को दूध में सुखाकर चूर्ण की तरह पीस लें और रोजाना एक चम्मच की मात्रा पानी के साथ खिलाने से बच्चों 

                    का बिस्तर पर पेशाब करना ठीक हो जाता है।

                (6) छुहारे को दूध में उबालकर प्रतिदिन खिलाने से बच्चों का बिस्तर पर पेशाब करना बंद हो जाता है।

                (7) धनिये के बीजों को भूरा होने तक तवे पर भूनें और उसमें एक चम्मच अनार के फूल,तिल एवं बबूल की गोंद मिलाकर मिश्रण 

                     बना कर उसमें थोड़ी सी मिश्री मिलाकर सोते समय आधा -एक चम्मच खिलाने से बच्चों का बिस्तर पर पेशाब करना दूर हो 

                     जाता है।


  बच्चों के रोग

  पुरुषों के रोग

  स्त्री रोग

  पाचन तंत्र

  त्वचा के रोग

  श्वसन तंत्र के रोग

  ज्वर या बुखार

  मानसिक रोग

  कान,नाक एवं गला रोग

  तंत्रिका रोग

  मोटापा रोग

  बालों के रोग

  जोड़ एवं हड्डी रोग

  रक्त रोग

  ह्रदय रोग

  आँखों के रोग

  यौन जनित रोग

  गुर्दा रोग

  आँतों के रोग

  लिवर के रोग