brucellosis disease

संक्रामक गर्भपात रोग:- संक्रामक गर्भपात रोग एक अत्यंत संक्रामक पशुजन्य रोग है।यह रोग पूरे संसार में मानवों,पालतू पशुओं एवं जंगली जानवरों में भी पाया जाने वाला रोग है।जब पशु चारे के साथ इस बीमारी के जीवाणुओं को अपने आहार के साथ ग्रहण करता है तो वह पशु ग्रसित हो जाता है।मनुष्य जब इन पशुओं का दूध,मांस आदि मानव ग्रहण करता है तो वह भी संक्रमित हो जाता है।इनके वाहक जीवाणु ब्रूसेला अबोर्टस,ब्रूसेला सुइस,ब्रूसेला ओबिस एवं ब्रूसेला कनिस आदि हैं,जो इस बीमारी के वाहक हैं।इन जीवाणुओं से स्त्रियों,पशुओं आदि का गर्भपात हो जाता है।

लक्षण:-योनि से भूरे रंग का रक्त का स्राव होना,पेट के निचले हिस्से में दर्द होना,स्तनों में कठोरता,कमर में दर्द,योनि से रक्त का थक्के के रूप में निकलना,पसीने का अधिक निकलना आदि इस बीमारी के प्रमुख लक्षण हैं।

कारण:- योनि में संक्रमण,बिना पाश्चुरीकृत दूध का सेवन करना,संक्रमित पशुओं का मांस भक्षण करना आदि संक्रामक गर्भपात के मुख्य कारण हैं।

उपचार:- (1) पाश्चुरीकृत दूध के सेवन करने से इस बीमारी से बचा जा सकता है।

             (2) एक चम्मच आंवला चूर्ण में शहद मिलाकर प्रतिदिन सुबह-शाम सेवन करने से भी इस बीमारी से बचा जा सकता है।

             (3) लहसुन का रस और शहद मिलाकर सेवन से भी इस बीमारी से बचा जा सकता है।


  बच्चों के रोग

  पुरुषों के रोग

  स्त्री रोग

  पाचन तंत्र

  त्वचा के रोग

  श्वसन तंत्र के रोग

  ज्वर या बुखार

  मानसिक रोग

  कान,नाक एवं गला रोग

  तंत्रिका रोग

  मोटापा रोग

  बालों के रोग

  जोड़ एवं हड्डी रोग

  रक्त रोग

  ह्रदय रोग

  आँखों के रोग

  यौन जनित रोग

  गुर्दा रोग

  आँतों के रोग

  लिवर के रोग