cough disease

खांसी रोग:- खांसी -जुकाम मानव शरीर की एक रक्षात्मक प्रणाली है,जो वायुमार्ग से बलगम,धूल,धुआं,गैस आदि को दूर कर शरीर को स्वस्थता प्रदान करती है।गले या साँस की नालियों में रुकावट को साफ करने के लिए हवा बाहर निकलने पर अचानक आने वाली तेज खरखराहट जैसी आवाज को ही खांसी कहा जाता है।खांसी,गले और वायु मार्ग को प्रभावित करने वाला आम वायरल संक्रमण है।खांसी को गंभीर बीमारी का संकेत भी मन जाता है।इसे ट्यूसिस के नाम से भी जाना जाता है।

लक्षण:- बुखार,ठण्ड लगना,शरीर में दर्द,गले में खराश,मितली,उल्टी,सिरदर्द,नाक बहना,रात्रि में पसीना आना आदि खांसी के प्रमुख लक्षण हैं।

कारण:- धूम्रपान,सर्दी लगना,पसीने में पानी पीना,स्निग्ध चीजें खाने के बाद पानी पीना आदि खांसी के सामान्य लक्षण हैं।

उपचार:- (1) एक चम्मच अदरक के रस में एक चम्मच शहद मिला कर प्रतिदिन सुबह-शाम सेवन करने से खांसी ठीक हो जाती है।

             (2) दालचीनी,बड़ी इलायची,छोटी पीपल,वंशलोचन एवं मिश्री सबको समान भाग लेकर कूट पीस कर चूर्ण बना कर सुबह -शाम सेवन 

                  करने से खांसी नष्ट हो जाती है।

             (3) मुलहठी चूर्ण दो ग्राम की मात्रा प्रतिदिन तीन बार सेवन करने से खांसी का नाश हो जाता है।

             (4) लौंग,जायफल,काली मिर्च,छोटी पीपल,सोंठ और देशी खांड समान भाग लेकर चूर्ण बनाकर दो ग्राम की मात्रा प्रतिदिन सुबह -शाम 

                  सेवन करने से खांसी जड़ से समाप्त हो जाती है। 

             (5) कटेरी,गिलोय,सोंठ,लौंग,काली मिर्च,एवं छोटी पीपर का काढ़ा बना कर प्रतिदिन सुबह -शाम पीने से खांसी का नाश हो जाता है।


  बच्चों के रोग

  पुरुषों के रोग

  स्त्री रोग

  पाचन तंत्र

  त्वचा के रोग

  श्वसन तंत्र के रोग

  ज्वर या बुखार

  मानसिक रोग

  कान,नाक एवं गला रोग

  तंत्रिका रोग

  मोटापा रोग

  बालों के रोग

  जोड़ एवं हड्डी रोग

  रक्त रोग

  ह्रदय रोग

  आँखों के रोग

  यौन जनित रोग

  गुर्दा रोग

  आँतों के रोग

  लिवर के रोग