waist pain disease

 

कमर दर्द रोग :- मनुष्य की कमर मांसपेशियों,स्नायुबंधन,नसों,डिस्क और अस्थियों की एक जटिल संरचना से बनी है।इन सब में से किसी  के साथ होने वाली समस्या से कमर दर्द हो सकता है ।वास्तव में कमर दर्द मनुष्य की शारीरिक समस्याओं में अत्यंत गंभीर विषय है ।कमर दर्द लम्बे समय से घंटों तक बैठे रहने की जीवन शैली,धूम्रपान,शराब का सेवन एवं सोने -जागने का नियमित समय होना,आयु और लिंग,शरीर का भारीपन,बहुत अधिक शारीरिक परिश्रम करने आदि के कारण हो सकता है ।ऑफिस में घंटों गलत पॉश्चर में बैठे रहना और व्यायाम करने की वजह से कमर का दर्द आजकल केवल उम्र से जुड़ी है ;बल्कि इससे लोगों की रोजमर्रा की जिंदगी भी काफी तकलीफदेह साबित हो रही है ।कमर का दर्द अत्यंत कष्टकारी और असहज करने वाला होता है ;किन्तु आमतौर पर यह कोई गंभीर बीमारी नहीं होता है।

लक्षण :- कमर में दर्द,खिंचाव या अकड़न होना,शरीर में दर्द,सिर में दर्द,चलने -फिरने या मुड़ने में असहजता,खड़े रहने में परेशानी,वजन घटना,मल-मूत्र विसर्जन में कठिनाई,जननांगों में सुन्नपन,बुखार आदि कमर दर्द के प्रमुख लक्षण हैं ।

कारण :- हर दिन की गतिविधियाँ के गलत तरीके,घंटों एक ही पॉश्चर में बैठे रहना,भरी सामान को खींचना या उठाना,गलत रारीके से उठाना,लम्बे समय तक खड़े रहना,गिरने या चोट लगने के कारण,मेरुदंड में विकार के कारण,धूम्रपान,अत्यधिक शराब का सेवन,ज्यादा सोने,व्यायाम न करने के कारण,मानसिक तनाव,कमर की नसों में विकार,प्रसव के कारण,मांसपेशियों में खिंचाव या ऐठन,डिस्क का विच्छेदन,डिस्क में उभार,कटिस्नायु  शूल,साइटिका,गठिया,रीढ़ का टेढ़ापन,आस्टियोपोरोसिस,कब्ज,रीढ़ की हड्डी का कैंसर,नींद सम्बन्धी विकार,दाद,ख़राब गट्टे आदि कमर दर्द के मुख्य कारण हैं ।

उपचार :- (1) जैतून तेल की मालिश से कमर दर्द ठीक हो जाता है

              (2) सरसों तेल  में हल्दी,अजवाइन,लौंग एवं लहसुन की पांच -छह कलियों को जलाकर और उस तेल की मालिश से कमर दर्द

                    ठीक हो जाता है

              (3) दूध में हल्दी,दारू हल्दी एवं अम्बा हल्दी पाउडर को मिलाकर और उसे थोड़ा गुनगुनाकर पीने से कमर दर्द दूर हो जाता है

              (4) टिल के तेल से कमर की मालिश से कमर दर्द दूर हो जाता है

              (5) एरंड के तेल की मात्रा आधा चम्मच दूध में मिलाकर पीने से भी कमर दर्द दूर हो जाता है ।

 


  बच्चों के रोग

  पुरुषों के रोग

  स्त्री रोग

  पाचन तंत्र

  त्वचा के रोग

  श्वसन तंत्र के रोग

  ज्वर या बुखार

  मानसिक रोग

  कान,नाक एवं गला रोग

  तंत्रिका रोग

  मोटापा रोग

  बालों के रोग

  जोड़ एवं हड्डी रोग

  रक्त रोग

  ह्रदय रोग

  आँखों के रोग

  यौन जनित रोग

  गुर्दा रोग

  आँतों के रोग

  लिवर के रोग