vaginal yeast infection

योनि शोथ:- आधुनिक वर्तमान परिदृश्य में महिलाओं में योनि शोथ की एक बहुत ही गंभीर समस्या है।हर वर्ष इससे लाखों महिलाएँ पीड़ित होती हैं।वास्तव में यह संक्रमण प्रजनन के समय सबसे अधिक तेजी से होता है।योनि संक्रमण तीन प्रकार का होता है - (1) यीष्ट इन्फेक्शन-यह संक्रमण जननांगों में होने वाला फंगल संक्रमण है ,जो कैंडिडा एल्विकेंस कवक के कारण होता है।यह कवक (यीष्ट)पाचन तंत्र या योनि में पाया जाता है।जब व्यक्ति मुखमैथुन करता है तो मुख से योनि या योनि से मुख संक्रमित हो जाता है।कभी-कभी गर्भावस्था,अनियंत्रित शुगर या कमजोर प्रतिरक्षा प्रणाली के कारण भी इन्फेक्शन हो जाता है।यह सेक्स के दौरान उनके पार्टनर को भी हो सकता है ;किन्तु यह यौन संचारित नहीं माना जाता है ,क्योंकि यह उन महिलाओं या लड़कियों को भी हो जाता है जो यौन रूप से सक्रिय नहीं होते हैं। (2) वैक्टीरियल इन्फेक्शन - यह संक्रमण वैक्टीरिआ के कारण होता है।(3) ट्रिकोमोनिसिस-यह संक्रमण यौन संचारित संक्रमण है।यह एककोशीय परजीवी ट्राइकोमोनास वैजिनैलिस के कारण होता है।

लक्षण:- योनि में खुजली,जलन या असहजता महसूस होना,योनि एवं योनि मार्ग में दर्द,सेक्स या मूत्र त्याग के समय जलन महसूस होना,सफ़ेद और गाढ़ा योनि स्राव होना,लाल चकत्ते या दाने होना आदि योनि शोथ के प्रमुख लक्षण हैं।

कारण:- (1) गर्भावस्था (2) माहवारी (3) एस्ट्रोजेन का बढ़ा स्तर (4) शुगर (5) एन्टीवायटिक्स का ज्यादा इस्तेमाल के कारण (6) कैंसर का उपचार (7) यौन क्रिया में अधिक सक्रिय होना।

उपचार:-(1) लहसुन का पेस्ट तैयार और योनि के प्रभावित क्षेत्र में लगाने से योनि शोथ की बीमारी नष्ट होती है।

            (2) टी ट्री ऑयल को एक कप पानी में मिलाएं और उसमें एक चम्मच जैतून का तेल मिलाकर योनि के 

                  प्रभावित क्षेत्र में लगाने से योनि शोथ की बीमारी का नाश हो जाता है।

            (3) गेंदा के पत्तों को मसल कर योनि के प्रभावित क्षेत्र पर लगाने से भी योनि शोथ नष्ट होता है।

            (4) दही में रुई के फाहे को डुबोएं और योनि के ऊपर रखने से योनि शोथ की बीमारी दूर होती है।

            (5) बोरिक एसिड एक चम्मच दो कप पानी में मिलाकर योनि पर लगाने से भी बीमारी दूर होती है।

            (6) मेथी के बीज दो चम्मच पानी में भिगोये और सुबह खली पेट पीने से भी योनि शोथ दूर हो जाता है।

            (7)हल्दी पाउडर दूध में मिलाकर प्रतिदिन सेवन से योनि शोथ की बीमारी दूर हो जाती है।

 

 

 

 

 

 


  बच्चों के रोग

  पुरुषों के रोग

  स्त्री रोग

  पाचन तंत्र

  त्वचा के रोग

  श्वसन तंत्र के रोग

  ज्वर या बुखार

  मानसिक रोग

  कान,नाक एवं गला रोग

  तंत्रिका रोग

  मोटापा रोग

  बालों के रोग

  जोड़ एवं हड्डी रोग

  रक्त रोग

  ह्रदय रोग

  आँखों के रोग

  यौन जनित रोग

  गुर्दा रोग

  आँतों के रोग

  लिवर के रोग