epilepsy disease

मिर्गी या अपस्मार :-मिर्गी रोग एक मस्तिष्कीय विकृति है,जो दिमाग में रक्त संचरण अथवा तंतुओं में किसी प्रकार की विकृति आ जाने के कारण होता है।मानव मस्तिष्क असंख्य तंत्रिका कोशिकाओं की क्रियाशीलता को नियंत्रित करता है।हमारे मस्तिष्क के सभी कोशिकाओं में विद्युत् का संचार होता है ;लेकिन जब कभी इसमें असामान्य रूप से विद्युत् का संचार होने लगता है तो व्यक्ति को एक विशेष प्रकार का झटका लगता है और व्यक्ति बेहोश हो जाता है। यह अवधि चाँद सेकंड ,मिनट या घंटों तक की हो सकती है।

उपचार :-(1 )लहसुन 1 तोला,काला तिल 3  तोला,या काले तिलों का तेल 2 तोला ,दोनों को मिलाकर प्रतिदिन सुबह -शाम 21 दिनों तक खाने से मिर्गी रोग नष्ट हो जाता है। 

             (2 )बाह्मी का रस 1 तोला ,शहद1 तोला मिलाकर पीने से मिर्गी रोग तीन दिनों में ही दूर हो जाता है।

             (3 )आक की जड़ की छाल को बकरी के दूध में रगड़ कर नश्य देने से मिर्गी रोग दूर हो जाता है ।  

             (4)पेठा के स्वरस में पिसी हुई 6 माशा मुलेठी रोजाना खाने से मिर्गी रोग नष्ट होता है \  


  बच्चों के रोग

  पुरुषों के रोग

  स्त्री रोग

  पाचन तंत्र

  त्वचा के रोग

  श्वसन तंत्र के रोग

  ज्वर या बुखार

  मानसिक रोग

  कान,नाक एवं गला रोग

  तंत्रिका रोग

  मोटापा रोग

  बालों के रोग

  जोड़ एवं हड्डी रोग

  रक्त रोग

  ह्रदय रोग

  आँखों के रोग

  यौन जनित रोग

  गुर्दा रोग

  आँतों के रोग

  लिवर के रोग