loss of sexual stamina disease

मर्दाना ताकत या पौरुष शक्ति का ह्रास रोग :- मर्दाना ताकत या पौरुष शक्ति का ह्रास  होना आज के वर्तमान परिवेश में एक आम समस्या के रूप में परिलक्षित होता है।आज खान - पान,रहन- सहन,एवं आधुनिकता के दौर में शामिल होकर मनुष्य पश्चिमी सभ्यता का बन्दर नक़ल करके अपने स्वास्थ्य का बेड़ा गर्क कर लिया है। साथ ही रही सही आज के अश्लील दृश्य - श्रव्य सामग्री ने पूरा कर दिया है।इसके अतिरिक्त पर्यावरणीय असंतुलन एवं प्रदूषण की समस्या भी एक प्रमुख कारक है।वास्तव में मनुष्य में पौरुष शक्ति टेस्टोस्टेरॉन नामक हार्मोन के कारन होता है।टेस्टोस्टेरॉन का स्तर ही उसके सामाजिक व्यवहारों को प्रभावित करता है।स्तनपाइयों में टेस्टोस्टेरॉन मुख्यतः नरों में अंडकोष से व मादाओं में अंडाशय से स्रावित होता है।यह नर सेक्स हार्मोन पुरुषों में यौन लक्षणों के विकास कोदाम्पत्य संबंधों के अतिरिक्त व्यवसाय,वे गति प्रदान करता है और यौन क्रिया कलापों,रक्त संचरण एवं मांसपेशियों के साथ-साथ एकाग्रता,स्वभाव एवं याददाश्त को प्रभावित करता है।हाल के वषों में पति -पत्नी,घर-परिवार,तन आदि की अधिक चिंता का वातावरण बना है।फलस्वरूप व्यक्ति के अंदर टेस्टोस्टेरॉन के स्तर में गिरावट ही मर्दाना ताकत के ह्रास का प्रमुख कारण है।यह हार्मोन शुक्राणु उत्पादन के साथ-साथ आदमी की कामेच्छा को भी बढ़ाता है।

लक्षण :- मूड ख़राब होना,थकान महसूस करना,एकाग्रता में कमी,याददाश्त कमजोर होना,जल्दी आक्रामक हो जाना,गुस्सा आना,चिड़चिड़ापन,बाल झड़ना,वीर्य की मात्रा कम हो जाना,पसीना अधिक आना,स्तम्भन शक्ति कम हो जाना,चरम सुख प्राप्त करने में कठिनाई,सम्भोग की इच्छा में कमी आदि मर्दाना ताकत या पौरुष शक्ति का ह्रास रोग के प्रमुख लक्षण हैं।

कारण :- बढ़ती उम्र,पिट्यूटरी ग्रंथि का रोग,आनुवांशिक कारण,अंडकोष में संक्रमण,चोट या क्षति,फेफड़ो में सूजन,तनाव में रहना,मोटापा,गंभीर बीमारी,प्रोस्टेट कैंसर के इलाज की दवाएं,संतृप्त वसायुक्त आहार,धूम्रपान,अत्यधिक शराब का सेवन,आदि मर्दाना ताकत या पौरुष शक्ति ह्रास का रोग के मुख्य कारण हैं।

उपचार :- (1) बरगद के दूध में बताशे को भिगोंकर प्रतिदिन सेवन करने से मर्दाना ताकत या पौरुष शक्ति ह्रास का रोग ठीक हो जाता है।

              (2) ओमेगा 3 फैटी एसिड युक्त आहार नियमित सेवन करने से मर्दाना ताकत या पौरुष शक्ति ह्रास का रोग ठीक हो जाता है।

              (3) आयरन युक्त आहार जैसे-पालक,शलगम पत्तागोभी,ब्रोकली,मशरूम आदि आहार के सेवन से मर्दाना ताकत या पौरुष शक्ति 

                   का ह्रास रोग ठीक हो जाता है।

              (4) प्रतिदिन सुबह लहसुन की तीन-चार कलियों के सेवन से मर्दाना ताकत या पौरुष शक्ति ह्रास का रोग ठीक हो जाता है।

              (5) समुद्री खाद्य पदार्थों जैसे-मछली,केकड़ा आदि के सेवन भी टेस्टोस्टेरॉन को बढ़ाता है और लिंग वाहिकाओं में रक्त के संचार में 

                    सुधार लाकर मर्दाना ताकत या पौरुष शक्ति ह्रास का रोग को ठीक करता है।

              (6) अखरोट,बादाम को प्रतिदिन आहार में शामिल करने से मर्दाना ताकत या पौरुष शक्ति ह्रास का रोग दूर हो जाता है।

              (7) सूरजमुखी और अलसी के बीजों के सेवन से भी मर्दाना ताकत या पौरुष शक्ति ह्रास का रोग ठीक हो जाता है।

              (8) पर्याप्त नींद लेने से भी मर्दाना ताकत या पौरुष शक्ति ह्रास का रोग ठीक हो जाता है।

              (9) दूध में खजूर उबालकर खाने से भी मर्दाना ताकत या पौरुष शक्ति ह्रास का रोग ठीक हो जाता है।

              (10) लहसुन और शहद मिलकर खाने से भी मर्दाना ताकत या पौरुष शक्ति ह्रास का रोग दूर हो जाता है।

              (11) इलायची के सेवन से भी मर्दाना ताकत या पौरुष शक्ति ह्रास का रोग ठीक हो जाता है।


  बच्चों के रोग

  पुरुषों के रोग

  स्त्री रोग

  पाचन तंत्र

  त्वचा के रोग

  श्वसन तंत्र के रोग

  ज्वर या बुखार

  मानसिक रोग

  कान,नाक एवं गला रोग

  तंत्रिका रोग

  मोटापा रोग

  बालों के रोग

  जोड़ एवं हड्डी रोग

  रक्त रोग

  ह्रदय रोग

  आँखों के रोग

  यौन जनित रोग

  गुर्दा रोग

  आँतों के रोग

  लिवर के रोग