micro penis

लिंग का छोटापन :- भारतीय एवं दूसरे अन्य देशों के खासकर युवा वर्ग अपने लिंग के आकार को लेकर ज्यादा चिंतित रहते हैं।इस कारण से वे मानसिक तनाव एवं अत्यंत परेशानी अनुभव करते हैं।वे यह सोचकर ज्यादा तनावग्रस्त रहते हैं कि उनका आगे की शादीशुदा जिंदगी लिंग के छोटेपन की वजह से ख़राब न हो जाये।वास्तव में लिंग की लम्बाई साढ़े तीन इंच की है तो आपकी शादीशुदा जिंदगी पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा,क्योंकि स्त्री की योनि का ऊपरी एक तिहाई हिस्सा ही यौन स्पर्श के प्रति संवेदनशील होता है और उत्तेजित अवस्था में यदि लिंग दो सेंटीमीटर भी होता है तो वह अपने साथी को पर्याप्त यौन आनंद प्रदान करा पाने में समर्थ होता है। आयुर्वेद के अनुसार मालिश,लेप आदि के द्वारा लिंग के आकार में परिवर्तन लाया जा सकता है इसमें कोई संदेह नहीं है।

लक्षण :- लिंग का आकार बहुत छोटा होना,छिपा हुआ दिखना,सामान्य की अपेक्षा छोटा होना आदि लिंग के छोटेपन के प्रमुख लक्षण हैं।

कारण :- कुपोषण,आनुवंशिक कारण,धूम्रपान एवं शराब का अत्यधिक सेवन,आंशिक ऐड्रोजन असंवेदनशीलता,थायराइड हार्मोन,मोटापा,मधुमेह रोगी होना आदि लिंग के छोटेपन के मुख्य कारण हैं।

उपचार :- (1) जिंकयुक्त खाद्य पदार्थों जैसे - कद्दू के बीज,बीन्स,तरबूज के बीज,अखरोट,बादाम आदि के सेवन से लिंग का छोटापन दूर हो 

                   जाता है।

              (2) गाजर,केला, प्याज,ब्रोकली,टमाटर,शक्करकंद,चुकुन्दर,पालक,सेब,पपीता आदि के नियमित सेवन से भी लिंग का छोटापन दूर 

                   हो जाता है।

              (3) देशी घी या सरसों तेल की नियमित मालिश से लिंग का छोटापन दूर हो जाता है।

              (4) एक चम्मच जैतून के तेल में लौंग तेल की 15 बूंदें अच्छी तरह मिलाकर लिंग के ऊपरी हिस्से को छोड़कर मालिश करने से लिंग 

                    का छोटापन दूर हो जाता है।

              (5) पिसे हुए हींग में देशी घी को मिलाकर लेप बना लें और रात को सोते समय लिंग के ऊपरी भाग को छोड़कर लेप करने और 

                   सुबह गर्म जल से धो लेने पर कुछ ही दिनों में लिंग का छोटापन दूर हो जाता है।

              (6) बेलपत्र के ताजे पत्ते का रस निकलकर उसे शहद के साथ मिलाकर लगाने से भी लिंग का छोटापन दूर हो जाता है।

              (7) सहजन के 15 ग्राम फूलों को 300 ग्राम दूध में उबालकर सूप बनाकर पीने से लिंग का छोटापन दूर हो जाता है।

              (8) एक छोटा चम्मच शहद में चुटकी भर हींग को मिलाकर लिंग मुंड को छोड़कर बांकी हिस्से पर लगाने और आधा घंटे बाद धो 

                   लेने से कुछ ही दिनों में लिंग का छोटापन ठीक हो जाता है।

               

              


  बच्चों के रोग

  पुरुषों के रोग

  स्त्री रोग

  पाचन तंत्र

  त्वचा के रोग

  श्वसन तंत्र के रोग

  ज्वर या बुखार

  मानसिक रोग

  कान,नाक एवं गला रोग

  सिर के रोग

  तंत्रिका रोग

  मोटापा रोग

  बालों के रोग

  जोड़ एवं हड्डी रोग

  रक्त रोग

  मांसपेशियों का रोग

  संक्रामक रोग

  मूत्र तंत्र के रोग

  ह्रदय रोग

  आँखों के रोग

  यौन जनित रोग

  गुर्दा रोग

  आँतों के रोग

  लिवर के रोग