sperm allergy

स्पर्म या सीमेन एलर्जी रोग :- स्पर्म या सीमेन एलर्जी एक दुर्लभ किस्म का यौन संचारित रोग है ,जो यौन संपर्क के दौरान पुरुष के स्पर्म से स्त्रियों को हो जाता है। वास्तव में स्पर्म से नहीं उसमें मौजूद एलर्जिक प्रोटीन्स की वजह से होती है। सीमेन एलर्जी या ह्यूमन सेमिनल प्लाज्मा हाइपर सेंसटिविटी एक ऐसी अवस्था है ,जिसमें पुरुषों को सीमेन से एलर्जिक प्रतिक्रिया होती है। ऐसे में महिलाओं को भी पुरुषों से सम्बन्ध बनाने से एलर्जी हो सकती है किन्तु यह बहुत ही रेयर कंडीशन है ,जिससे ग्रसित बहुत ही कम लोग होते हैं। यह एक यौन संचारित रोग की दुर्लभ बीमारी है। इसे वीर्य एलर्जी के नाम से भी जाना जाता है। यौन क्रिया के दौरान जब पुरुष का वीर्य स्खलित होता है तो पुरुष के प्रोस्टेट ग्लैंड से ग्लाइको प्रोटीन भी उत्सर्जित होकर महिलाओं के योनि के द्वारा जब अन्य अंगों से संपर्क में आता है तो एक प्रकार की प्रतिक्रिया होती है जिसके फलस्वरूप प्रजनन अंगों एवं शरीर के अन्य भागों में भी खुजली,छाती में घुटन ,पेशाब में दर्द आदि जैसे लक्षण कुछ देर बाद होने लगते है। यह स्पर्म एलर्जी के कारण ही होता है। 

लक्षण : - सिर दर्द,थकान,योनि में सूखापन,रैशेज,लिंग के आगे वाले भाग पर रैशेज, जननांग में खुजली,छोटे - छोटे दाने निकलना,योनि में जलन,छाती में घुटन,बेहोशी,घरघराहट,सूजन,साँस लेने में परेशानी,पेशाब करने में दर्द,एक्जिमा आदि जैसे प्रमुख लक्षण स्पर्म या सीमेन एलर्जी में दृष्टिगोचर होने लगते हैं। 

कारण :- स्पर्म में पाए जाने वाले एलर्जिक ग्लाइको प्रोटीन स्पर्म या सीमेन एलर्जी के मुख्य कारण हैं। 

उपचार :- स्पर्म या सीमेन एलर्जी का कोई उपचार नहीं है,किन्तु कुछ सावधानियों का पालन कर इससे बचा जा सकता है। 

(1) स्पर्म या सीमेन एलर्जी से बचने के लिए यौन क्रिया के दौरान कंडोम का प्रयोग अति लाभदायक सिद्ध होता है और स्पर्म एलर्जी से बचा जा सकता है। 

(2) स्पर्म एलर्जी से बचने के लिए महिलाओं को सम्भोग से पहले एंटी एलर्जिक औषधियों का प्रयोग करना आवश्यक हो जाता है जिससे स्पर्म या सीमेन एलर्जी के दुष्प्रभावों को कुछ हद रोका जा सकता है। 

(3) स्पर्म या सीमेन एलर्जी से बचने के लिए महिलाओं को सम्भोग के तुरंत बाद अपने योनि को फिटकरी से युक्त पानी से धोने से भी स्पर्म एलर्जी से बचा जा सकता है। 

(4) स्पर्म या सीमेन एलर्जी से बचने के लिए पुरुषों को अपने ऊपर नियंत्रण रखकर सम्भोग के दौरान अपने वीर्य का स्खलन योनि के बाहर करने से भी इस एलर्जी से बचा जा सकता है। 

(5) स्पर्म या सीमेन एलर्जी से बचने के लिए इंट्रावेजाइनल सेमीनल ग्रेडिड चैलेंज का प्रयोग डॉक्टर की सलाह से करने से भी इस तरह की एलर्जी से लड़ा जा सकता है और एलर्जी से लड़ने की शक्ति प्राप्त की जा सकती है। 


  बच्चों के रोग

  पुरुषों के रोग

  स्त्री रोग

  पाचन तंत्र

  त्वचा के रोग

  श्वसन तंत्र के रोग

  ज्वर या बुखार

  मानसिक रोग

  कान,नाक एवं गला रोग

  सिर के रोग

  तंत्रिका रोग

  मोटापा रोग

  बालों के रोग

  जोड़ एवं हड्डी रोग

  रक्त रोग

  मांसपेशियों का रोग

  संक्रामक रोग

  मुँह ,दांत के रोग

  मूत्र तंत्र के रोग

  ह्रदय रोग

  आँखों के रोग

  यौन जनित रोग

  गुर्दा रोग

  आँतों के रोग

  लिवर के रोग